Screen Reader Access Skip to Main Content Font Size   Increase Font size Normal Font Decrease Font size
Indian Railway main logo
खोज :
Find us on Facebook   Find us on Twitter Find us on Youtube View Content in English
National Emblem of India

हमारे बारे में

निविदायें और अधिसूचनाएं

समाचार एवं अद्यतन

अन्य जानकारी

यात्री सूचना

हमसे संपर्क करें

 
Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS
2017/4/506-04-2017

मध्यरेल

प्रेसविज्ञप्ति

छत्रपतिशिवाजीटर्मिनसमुंबईएवंएरनाकुलमकेबीच 16 पूर्णआरक्षितग्रीष्मकालीनसाप्ताहिकविशेषगाडियॉं

ग्रीष्मकाल 2017 हेतुहोनेवालीअतिरिक्तभीड-भाडकोदेखतेहुएमध्रेलनेछत्रपतिशिवाजीटर्मिनसमुंबईएवंएरनाकुलमकेबीच 16 पूर्णआरक्षितग्रीष्मकालीनसाप्ताहिकविशेषगाडियॉंविशेषशुल्कपरचलानेकानिर्णयलियागयाहै।जिसकाविवरणनिम्नानुसारहै:-

01065ग्रीष्मकालीनसाप्ताहिकविशेषगाडीदिनांक 18.04.2017 से 06.06.2017 तकप्रत्येकमंगलवार (8 सेवाएं) कोछत्रपतिशिवाजीटर्मिनससे 15.35 बजेप्रस्थानकरदूसरेदिन 19.15 बजेएरनाकूलमजक्शनपहुंचेगी।

01066ग्रीष्मकालीनसाप्ताहिकविशेषगाडीदिनांक 19.04.2017 से 07.06.2017 तकप्रत्येकबुधवार (8 सेवाएं) कोएरनाकूलमसे 23.00 बजेप्रस्थानकररविवारको 00.40 बजेछत्रपतिशिवाजीटर्मिनसपहुंचेगी।

हॉल्ट : दादर, ठाणे, पनवेल, रोहा, खेड, चिपलुन, रत्नागिरी, कनकवली, कुडाल, थीवीम, मडगांव, कारवार, कुमटा, भटकल, मुकामबिकारोडबैंदुर, कुन्दापुरा, उडुपी, मुलकी, सुरतकल, मंगलोरजंक्शन, कासरगोड, कन्नूर, कोझीकोड, शोरानूरजंक्शन, एवंत्रिसूर

संरचना: 5 वातानुकूलित 3 टियर, 8 स्लिपरक्लॉस

आरक्षण: ग्रीष्मकालीनगाडीसंख्या 01065 केलिएआरक्षणविशेषशुल्ककेसाथदिनांक 10.04.2017 सेप्रारंभहोगा।

-------------------------------------

दिनांक : अप्रैल 6, 2017

यहसमाचारमध्यरेलकेजनसपंर्कविभागद्वाराजारीकियागयाहै।



(Shivaji Sutar)
Chief Public Relations Officer




  प्रशासनिक लॉगिन | साईट मैप | हमसे संपर्क करें | आरटीआई | अस्वीकरण | नियम एवं शर्तें | गोपनीयता नीति Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2010  सभी अधिकार सुरक्षित

यह भारतीय रेल के पोर्टल, एक के लिए एक एकल खिड़की सूचना और सेवाओं के लिए उपयोग की जा रही विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं द्वारा प्रदान के उद्देश्य से विकसित की है. इस पोर्टल में सामग्री विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं और विभागों क्रिस, रेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा बनाए रखा का एक सहयोगात्मक प्रयास का परिणाम है.