Screen Reader Access Skip to Main Content Font Size   Increase Font size Normal Font Decrease Font size
Indian Railway main logo
खोज :
Find us on Facebook   Find us on Twitter Find us on Youtube View Content in English
National Emblem of India

हमारे बारे में

निविदायें और अधिसूचनाएं

समाचार एवं अद्यतन

अन्य जानकारी

यात्री सूचना

हमसे संपर्क करें

 
Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS
2020/05/4731-05-2020
चेकिंग स्टाफ की श्रमिकों की मदद के लिए अग्रणी भूमिका

मध्यरेल

प्रेसविज्ञप्ति

 

चेकिंगस्टाफकीश्रमिकोंकीमददकेलिएअग्रणीभूमिका

 

मध्यरेलने 574 श्रमिकस्पेशलट्रेनोंकेमाध्यमसे 7 लाखसेअधिकलोगोंकोअपनेघरपहुँचाया

 

मध्यरेलके 2009 टिकटचेकिंगस्टाफने 1840 श्रमिकविशेषट्रेनोंकेप्रवासियोंकोसहायतापहुंचाई

 

मध्यरेलनेदिनांक 29मई 2020 तकपूरेदेशमेंअपनी 574 श्रमिकस्पेशलट्रेनोंकेमाध्यमसे 7 लाखसेअधिकलोगोंकोउनकेघरतकपहुँचायाहै।इन 7 लाखश्रमिकोकोमुफ्तभोजनऔरपानीकेसाथआरामदायकयात्राप्रदानकीगई।टिकटजाँचस्टाफद्वाराकोचोंकोदेख-रेखतथासोशलडिस्टेसिंगकोध्यानमेंरखकरलोगोंकीआरामदायकबोर्डिंगसुनिश्चितकीगई।COVID19 केप्रसारकोरोकनेकेलिएउन्होंनेमास्कऔरहाथोंकीलगातारधुलाईकाउपयोगकरनेकेलिएभीसलाहदी।फ्रंटलाइनवारियर्सनिस्वार्थरूपसेअपनेकर्तव्यकानिर्वाहकरतेहुएएकसामाजिकजिम्मेदारीऔरदेशकीसेवाकरतेहैं, व्हीलचेयरपरवरिष्ठनागरिकोंकोलेजानेसहितसभीआश्रितोंकोसहायताप्रदानकरतेरहेहैं, एकट्रेनसेगर्भवतीमहिलाकीमददकरनेकेलिएअस्पतालपहुँचायागयाऔरएकगुजरनेवालेश्रमिकस्पेशलकेकोचोंकेअंदरभोजनऔरपानीवितरितकियाजाताहै।

 

मध्यरेलपरकुल 2009 टिकटचेकिंगस्टाफकीतैनातीकीगईहै, जिसमें 1840 श्रमिकस्पेशलट्रेनोंकीसेवामेंलगेहै,जिनमें 574 श्रमिकस्पेशलट्रेनेंशामिलहैं, जिससेप्रवासियोंकीमददकीजासकेऔरगुजरनेवालीट्रेनोंमेंभीश्रमिकोंकोभोजनऔरपानीउपलब्धकरायाजासकेऔरमुश्किलकेसमयलोगोंकीमददकेलिएहाथबढ़ायाजासके। 14 महिलाटिकटजांचस्टाफ (नागपुरमंडलके 4 औरपुणेमंडलके 10) भीइसमेंशामिलथे।टिकटचेकिंगस्टाफसंक्रमितहोनेकेजोखिमकोदेखतेहुए, योमनसेवाप्रदानकरतेहैं, देखभाल, करुणाऔरशिष्टाचारकेसाथप्रवासियोंकोदेख-रेखकरतेहैं, कईबाररास्तेसेबाहरनिकलनेमेंमददकरतेहैं, बच्चेकोडिब्बेतकलेजातेहैं, आरामसेबोर्डिंगहेतुव्हीलचेयरपरवरिष्ठनागरिकोंकोलेजातेहैंऔरगर्भावस्थाकेअग्रिमचरणमेंमहिलाओंकीमददहेतुपासकेअस्पतालमेंत्वरितपरिवहनकेसाथलेजानेकेकुछउदाहरणहैं

 

दिनांक 26.05.2020 को, एकश्रमिकस्पेशलट्रेननं 09253 सूरतसेबेहरामपुरनागपुरस्टेशनकेप्लेटफार्मनं 3, श्रीविष्णुसाहूनामकेएकयात्रीनेड्यूटीटिकटचेकिंगस्टाफकोबतायाकिउसकीपत्नीगंभीरप्रसवपीड़ासेपीड़ितहैऔरउसेतत्कालचिकित्सासहायताकीआवश्यकताहै।तत्कालटिकटचेकिंगस्टाफ, श्रीसुनीलकुमार, चीफटिकटइंस्पेक्टर, नेअपनीटीमकेसाथउपस्टेशनअधीक्षक (वाणिज्य) नागपुरकीमददसेस्ट्रेचरकीव्यवस्थाकीऔरगर्भवतीमहिलाकोएम्बुलेंसद्वारापासकेअस्पतालमेंस्थानांतरितकरदिया।टीसीस्टाफद्वाराप्रदानकिएगएइससहजसमर्थनऔरमददसेमहिलाओंकोअस्पतालमेंएकस्वस्थबच्चाकोजन्मदेनेमेंमददमिली।श्रीविष्णुसाहूनेभारतीयरेलकेफ्रंटलाइनकर्मचारियोंद्वारात्वरितसहायताकेलिएधन्यवाददियाऔरआभारमाना।

 

इसीतरहएकअन्यउदाहरणमें,01944 पुणे - लखनऊश्रमिकस्पेशलट्रेनमेंपुणेस्टेशनपरटिकटचेकिंगस्टाफ, ट्रेनमेंसवारहोनेकेलिएयात्रियोंकामार्गदर्शनकरतेहुएएकवरिष्ठनागरिककोउसकेबेटेकेसाथकतारमेंप्रवेशद्वारपरखड़ेवॉकरकेसाथचलनेकेलिएसंघर्षरतपाया, तुरंतही, टीसीस्टाफनेबेटेकोसामानसौंपदिया, पासमेंपाएगएरिवॉल्विंगव्हीलचेयरमेंवरिष्ठनागरिककोलियाऔरउसेट्रेनमेंचढ़नेमेंमददकीऔरउसेअपनीबर्थमेंआरामसेबैठनेकेलिएसुनिश्चितकिया।पुणेस्टेशनपरएकअन्यटीसीनेएकमहिलाकेएकछोटेबच्चेकोलेलिया, जोअपनेदोछोटेबच्चोंकोअपनेसाथलेजानेकेलिएसंघर्षकररहाथा, जोएकश्रमिकस्पेशलट्रेनमेंसवारथे।मध्यरेलटिकटचेकिंगस्टाफद्वाराप्रदानकीजानेवालीसहजमददकेऐसेउदाहरणोंनेप्रवासियोंकीआँखोंमेंआंसूऔरभावनात्मकलगावमहसूसकियाहै।

 

इसलॉकडाउनकेदौरान, श्रमिकस्पेशलकेआनेकेदौरान, टिकटचेकिंगस्टाफआरामदेनेवालेआर्मसाबितहुए, जबकिभारतीयरेलअपनेजीवनकेसबसेकठिनसमयमेंप्रवासियोकोआशाकीकिरणदेतेहुएअपनीआकांक्षाकोपूराकरनेमेंदृढ़था।

--- ----

दिनांक: 31 मई, 2020

2020/05/47

यहविज्ञप्तिजनसंपर्कविभाग, मध्यरेल, छत्रपतिशिवाजीमहाराजटर्मिनसमुंबईद्वाराजारीकीगईहै।



(Shivaji Sutar)
Chief Public Relations Officer




  प्रशासनिक लॉगिन | साईट मैप | हमसे संपर्क करें | आरटीआई | अस्वीकरण | नियम एवं शर्तें | गोपनीयता नीति Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2010  सभी अधिकार सुरक्षित

यह भारतीय रेल के पोर्टल, एक के लिए एक एकल खिड़की सूचना और सेवाओं के लिए उपयोग की जा रही विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं द्वारा प्रदान के उद्देश्य से विकसित की है. इस पोर्टल में सामग्री विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं और विभागों क्रिस, रेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा बनाए रखा का एक सहयोगात्मक प्रयास का परिणाम है.