Screen Reader Access Skip to Main Content Font Size   Increase Font size Normal Font Decrease Font size
Indian Railway main logo
खोज :
Find us on Facebook   Find us on Twitter Find us on Youtube View Content in English
National Emblem of India

हमारे बारे में

निविदायें और अधिसूचनाएं

समाचार एवं अद्यतन

अन्य जानकारी

यात्री सूचना

हमसे संपर्क करें

 
Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS
2020/06/3230-06-2020
हिल गैंग- मध्य रेल के घाटों के संरक्षा सैनिक

मध्यरेल

प्रेसविज्ञप्ति

हिलगैंग- मध्यरेलकेघाटोंकेसंरक्षासैनिक

मध्यरेलकीसबसेचुनौतीपूर्णकार्यबल, भोरघाटकीहिलगैंग (कर्जतऔरखंडालाकेबीच) औरथलघाट (कसाराऔरइगतपुरीकेबीच) अपनेरॉकक्लाइम्बिंगऔरमाउंटेनरैपलिंगकेमाध्यमसेरेलवेसंरक्षाकाचुनौतीपूर्णकार्यहै।येसंरक्षासैनिकपुणेऔरभारतकेदक्षिणीहिस्सोंऔरनासिकऔरभारतकेउत्तरीभागोंकीओरट्रेनोंकेलिएएकसुगमऔरसुरक्षितमार्गसुनिश्चितकरनेकेलिएपूरेसालकामकरतेहैं।पहाड़कीकटाईमेंअपनीविशेषताकेमाध्यमसेइनहिलगैंगकेसदस्योंद्वारापटरियोंपरगिरनेकीसंभावनावालेढीलेऔरखतरनाकबोल्डरकोहटातेहैं, मानसूनकेदौरानभूस्खलनकीवजहसेकीचड़कोसाफकरना, किसीभीअसामान्यसंभावनाकोरोकनेकेलिएभूजलनिकासीआदिकार्यकरतीहै।

हिलगैंगकेसदस्यपटरियोंकेसाथऊंचेऔरखड़ीपहाड़ियोंपरचढ़तेहैंऔररैलिंगकेमाध्यमसेढीलेऔरकमजोरबोल्डरकीपहचानकरतेहैंऔरइसेहरसालजनवरीसेमार्चकेमहीनेमेंलालपेंटसेचिह्नितकरतेहैं।फिर, अप्रैलऔरमईकेमहीनेमेंवेप्रत्येकदिन4से5घंटेकाब्लॉकलेकरचिह्नितढीलेऔरकमजोरबोल्डरकोहटादेतेहैं।इनबोल्डरोंकोविशेषरूपसेसाफकियाजाताहैइसवर्षअकेलेभोरघाटऔरथलघाटदोनोंघाटोंमें650सेअधिकढीलेबोल्डरकीपहचानकीगईऔरइनकोभोरघाटमेंड्रापकरदिया, और60दिनोंकेलिए4-5घंटेकाब्लॉकलेकर3-वैगनमेंबोल्डरकोसाफकरदियागया।

यहमहत्वाकांक्षीऔरविस्मयकारीकार्यभोरघाटऔरथलघाटमें10हिलगैंगकेसदस्योंद्वारापूराकियागयाहै।इसकार्यकोपूराकरनेकेलिएप्रदानकिएगएसुरक्षागियरऔरउपकरणसुरक्षाहेलमेट, सुरक्षाजूते, सुरक्षाबेल्ट (दोहन), दूरबीन, 100मीटररस्सी, हाथकेदस्ताने, सुरक्षाजैकेट, कटवानी, पहर, फोंक, लालपेंट, ब्रश, प्राथमिकचिकित्साबॉक्सआदिशामिलहैं।5किग्रा, वजनकाहथौड़ाविभिन्नआकार, कौवाबार, सीटीथंडर, छेनी, विभिन्नआकारोंमेंकुल्हाड़ी, तारपंजा, हाथसंकेतझंडालाल / हरा, फावड़ा, जामबावटाऔरगमेला।मानसूनकेदौरानऔरउसकेबादहिलगैंगकेसदस्यबिखरेहुएढीलेबोल्डरकेलिएस्कैनकरनेऔरआवश्यकताकेअनुसारछोड़नेकाकामकरतेहैं, चोक-अपकैचवाटरड्रेनऔरपुलिया, लीनट्रीकटिंगऔरब्रिजकीसफाईकोसाफकरतेहैं।

 

महाराष्ट्रकेपश्चिमीघाटकीप्रमुखपहाड़ीश्रृंखलासह्याद्रिश्रेणीहै, इससीमामेंकईमार्गयाघाटहैं, जिनमेंसेभोरघाटऔरथलघाटउल्लेखनीयहैं।इनघाटोंसेहोकरमुंबईसेरेललाइनक्रमशःपुणेऔरनासिकतकपहुंचतीहै।इनघाटोंसेगुजरनारोडवेजऔररेलवेदोनोंकेलिएएकबड़ीचुनौतीहै।इनघाटोंकेमाध्यमसेखड़ीढालवालीरेललाइनमध्यरेलकेलिएएकअनोखीचुनौतीपेशकरतीहै, इसकेअलावा, भारीबारिशकेदौरानखड़ीढलानोंकाकटावहोताहै, जिससेभारीबोल्डरोंकोलुढ़कनेकाखतरारहताहैऔरछोटे-छोटेबोल्डरढीलेहोजातेहैं।हिलगैंगद्वाराछेनीऔरहथौड़ोंकीमददसेबड़ेबोल्डरोंकोटुकड़ोंमेंकाटदियाजाताहैऔरसाफकरदियाजाताहै, जबकिगाड़ियोंकीसुरक्षितचलनेकोसुनिश्चितकरनेकेलिएछोटेबोल्डरगिरादिएजातेहैं।

 

कईरॉकपर्वतारोहियोंकेलिए, पर्वतीयरैपलिंगएकसाहसिककार्यहै, लेकिनमध्यरेलकेइनहिलगैंगकेलिएयहरेलवेकीसंरक्षासुनिश्चितकरनेकेलिएकियागयाएकमिशनहै।येसभीमौसमोंमेंबहुतकठिनपरिस्थितियोंमेंपरिश्रमकरकेअपनापसीनाबहातेहैं, ताकिइनघाटोंसेगुजरनेवालीयात्रीगाड़ियोंकोकिसीभीअसामान्यपरिस्थितिसेबचायाजासके।मध्यरेलकेहिलगैंगकेलिएयहहरसालएकनईचुनौतीहोतीहै।

--- ---

दिनांक: 30जून, 2020

2020/06/32

यहविज्ञप्तिजनसंपर्कविभाग, मध्यरेल, छत्रपतिशिवाजीमहाराजटर्मिनसमुंबईद्वाराजारीकीगईहै





  प्रशासनिक लॉगिन | साईट मैप | हमसे संपर्क करें | आरटीआई | अस्वीकरण | नियम एवं शर्तें | गोपनीयता नीति Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2010  सभी अधिकार सुरक्षित

यह भारतीय रेल के पोर्टल, एक के लिए एक एकल खिड़की सूचना और सेवाओं के लिए उपयोग की जा रही विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं द्वारा प्रदान के उद्देश्य से विकसित की है. इस पोर्टल में सामग्री विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं और विभागों क्रिस, रेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा बनाए रखा का एक सहयोगात्मक प्रयास का परिणाम है.