Screen Reader Access Skip to Main Content Font Size   Increase Font size Normal Font Decrease Font size
Indian Railway main logo
खोज :
Find us on Facebook   Find us on Twitter Find us on Youtube View Content in English
National Emblem of India

हमारे बारे में

निविदायें और अधिसूचनाएं

समाचार एवं अद्यतन

अन्य जानकारी

यात्री सूचना

हमसे संपर्क करें

 
Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS
2020/07/3523-07-2020
मध्य रेल द्वारा पार्सल ट्रेन से लासलगाँव से दर्शना बांग्लादेश को प्याज निर्यात

मध्यरेल

प्रेसविज्ञप्ति

मध्यरेलद्वारापार्सलट्रेनसेलासलगाँवसेदर्शनाबांग्लादेशप्याजनिर्यात

 

मध्यरेलनेपहलीबारदिनांक 22.7.2020 कोलासलगाँवसेदर्शनाबांग्लादेशकेलिएपार्सलट्रेनसेप्याजकानिर्यातकिया।इसपार्सलट्रेनमेंप्याजके 20 पार्सलवैनथे।मई 2020 सेबांग्लादेशको 62 मालगाड़ियोंमें 1.5 लाखटनसेजादाप्याजकानिर्यातकियाजाचुकाहै।यहमध्यरेलकीएकबहुतबड़ीउपलब्धिहैक्योंकिइससेजंहाकिसानोंकीआकांक्षाओंकोपूराकियाहैवंहीपड़ोसीदेश, बांग्लादेशकीआवश्यकजरूरतोंकोपूराकियाहै।

भुसावलमंडलकेनासिक, खेरवाड़ी, निफाड़, लासलगांवऔरमनमाडस्टेशनोंतथासोलापुरमंडलकेकोपरगांवएवंयेवलास्टेशनोंसेबांग्लादेशकेलिए 1.5 लाखटनसेजादाप्याजबांग्लादेशमेंधौलाना, रोहनपुर, बिरोलऔरबेनापोलतकभेजागया।

 

लोडरोंकोजिलाप्रशासनकेसाथसमन्वयकरकेहरसंभवसहायताप्रदानकीजारहीहै।लोडिंगकेदौरान, केंद्रऔरराज्यसरकारोंद्वाराअनिवार्यकेरूपमेंसोशलडिस्टेंसिंगकेउपायोंऔरस्वच्छताकापालनकियाजारहाहै।

 

मध्यरेलनेभीअपनीविशेषट्रेनोंऔरपार्सलविशेषट्रेनोंमेंलगभग 29 हजारटनपार्सलकापरिवहनकियाहै,जिसमेपार्सलस्पेशलट्रेनोंसेलगभग 20 हजारटनऔरविशेषट्रेनोंमें 9 हजारटनशामिलहैं।

--- ---

दिनांक: 23 जुलाई, 2020

पीआरनंबर 2020/07/35

यहविज्ञप्तिजनसंपर्कविभाग, मध्यरेल, छत्रपतिशिवाजीमहाराजटर्मिनसमुंबईद्वाराजारीकीगईहै।



(Shivaji Sutar)
Chief Public Relations Officer




  प्रशासनिक लॉगिन | साईट मैप | हमसे संपर्क करें | आरटीआई | अस्वीकरण | नियम एवं शर्तें | गोपनीयता नीति Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2010  सभी अधिकार सुरक्षित

यह भारतीय रेल के पोर्टल, एक के लिए एक एकल खिड़की सूचना और सेवाओं के लिए उपयोग की जा रही विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं द्वारा प्रदान के उद्देश्य से विकसित की है. इस पोर्टल में सामग्री विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं और विभागों क्रिस, रेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा बनाए रखा का एक सहयोगात्मक प्रयास का परिणाम है.