Screen Reader Access Skip to Main Content Font Size   Increase Font size Normal Font Decrease Font size
Indian Railway main logo
खोज :
Find us on Facebook   Find us on Twitter Find us on Youtube View Content in English
National Emblem of India

हमारे बारे में

निविदायें और अधिसूचनाएं

समाचार एवं अद्यतन

अन्य जानकारी

हमसे संपर्क करें



 
Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS
Electrical (TRS)

वरिष्ठ मंडल विद्युत इंजिनीअर (कचस्टा )

 संगठात्मक ढांचा : 

(अ) राजपत्रित :

विद्युत कर्षण चल स्टॉक शेड सेवा का नेतृत्व  वरिष्ठमंडल विद्युत इंजिनिअर (क. च. स्टा.) करते हैं , जिन्हें मंडल विद्युत इंजिनिअर (क. च. स्टा.), सहायक मंडल विद्युत इंजिनिअर (क. च. स्टा.) द्वारा सहायता प्रदान की जाती है ।

(ब)अराजपत्रित :

क्र. सं.

पदनाम

स्वीकृत  पद

उपस्थित

रिक्त

1

पर्यवेक्षक

79

62

17

2

आर्टिजन

509

503

6

3

अकुशल

111

93

18

4

लिपिकवर्गीय कर्मचारी  

25

21

4

कुल

724

679

45

                  

इतिहास और गतिविधियां :

           वर्ष 1968 में स्थापित मुंबई-हावड़ा और मुंबई-दिल्ली मेन लाइन पर स्थित, विद्युत लोको शेड, भुसावल भारतीय रेल का एक अग्रणी रखरखाव शेड है। शेड मूल रूप से 55 इंजनों की धारण क्षमता के लिए डिजाइन किया गया था। पिछले वर्षों में  विद्युत लोको शेड, भुसावल में विभिन्न प्रकार के लोको जैसे कि WAG-2, WAG-4, WAG-7 & WAM-4 लोको का रखरखाव किया । वर्तमान स्थिति में WAG-5WAP-4 & WAG-9H लोको का रखरखाव किया जाता है ।  विद्युत लोको शेड, भुसावल को अप्रैल 2006 से इंटरनेशनल मानक प्रमाणपत्र आईएसओ 9008-2000 कि मान्यता मिली तथा सिंतबर 2016 से  इंटरनेशनल मानक प्रमाणपत्र ISO 9001 :2008, ISO 14001 : 2004, OHSAS 18001 : 2007 कि मान्यता मिली । विद्युत लोको शेड, भुसावल में लोको रखरखाव के साथ कई महत्वपूर्ण गतिविधियाँ हुई है जो भारतीय रेल के इतिहास में माईल स्टोनस का कार्य करेगी ।  

सन 2018 से विद्युत लोको शेड मैं थ्री फेज लोको का रखरखाव शुरु किया । वर्तमान में विद्युत लोको शेड, भुसावल में 38 नं डब्ल्यूएजी-9एच लोको धारित हैं । 

विद्युत लोको शेड, भुसावल ने 02 नं कंडम डब्ल्यूएजी-5 लोको को बैटरी चलित दोहरे मोड शंटिंग लोको में परिवर्तित किया गया है यह लोको यार्ड शंटिंग के लिए जो बिना ओएचई के सेक्शन में डीजल लोको की आवश्यकता रहती है उसके बिना काम कर सकता है।

मायनर शेड्युल : आईए, आईबी, आईसी

मेजर  शेड्युल : एओएच, आईओएच

धारण क्षमता :

क्र. सं.

लोको टाइप      

धारण क्षमता

1

डब्ल्यूएजी-5

135

2

डब्ल्यूएपी-4 

43

3

डब्ल्यूएजी-9 एच

38

कुल

216  

लोको धारण क्षमता:

लोको धारण क्षमता का विवरण – 175

वर्तमान लोको होल्डिंग – 216  

गुड्स इंजन (डब्ल्यूएजी-5  & डब्ल्यूएजी -9 एच ) – 173

यात्री इंजन- (डब्ल्यूएपी-4 ) – 43

वर्तमान स्थिति में शेड की कार्य निष्पादन गतिविधियां निम्नानुसार है ।  

कार्य निष्पादन :

क्र. सं.

मापदंड

अगस्त तक की समेकित जानकारी

2020-21

2021-22

1

समय की पाबंदी नुकसान मामलों / घटनाओं (स्वामित्व आधार) / 100 लोको *

0.45

2.33

2

इंजन कैट -I विफलता / 100 लोको*

0.45

2.33

3

इंजन कैट -II विफलता / 100 लोको*

NIL

NIL

4

प्रति इंजन विफलता इंजन किलोमीटर (in Lakh)

183.52

36.66

5

स्टॅटिस्टीकल इनईफेक्टीव प्रतीशत

12.93

8.76

6

आऊटेज (%)

अ)

कोचिंग

81.71

88.05

ब)

गुडस

87.32

90.45

क)

 कुल आऊटेज

85.89

89.95

10

मेजर शेड्युल (एओएच & आयओएच)

20

40

11

अन शेड्युल लोको लिफ्टींग /100 लोको

20.52

21.88

12

अन शेड्युल लोको  विजीट /100 लोको

11.60

12.57

         




Source : CMS Team Last Reviewed on: 08-09-2021  


  प्रशासनिक लॉगिन | साईट मैप | हमसे संपर्क करें | आरटीआई | अस्वीकरण | नियम एवं शर्तें | गोपनीयता नीति Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2010  सभी अधिकार सुरक्षित

यह भारतीय रेल के पोर्टल, एक के लिए एक एकल खिड़की सूचना और सेवाओं के लिए उपयोग की जा रही विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं द्वारा प्रदान के उद्देश्य से विकसित की है. इस पोर्टल में सामग्री विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं और विभागों क्रिस, रेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा बनाए रखा का एक सहयोगात्मक प्रयास का परिणाम है.